25 June, 2020

परीक्षाओं में देरी के चलते पीछे छूट सकते हैं CBSE स्टूडेंट्स, डीयू की कटऑफ लिस्ट भी CBSE परीक्षा परिणाम पर निर्भर

CBSE परीक्षाओं बाकी बची परीक्षाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट आज अपना फैसला सुनाएगा। ऐसे में कोर्ट के फैसले के बाद यह साफ हो जाएगा कि सीबीएसई की परीक्षाएं होंगी या नहीं। और अगर परीक्षाएं होंगी, तो कब? दरअसल, देश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच स्टूडेंट और पैरेंट्स के साथ ही कई राज्य भी परीक्षाओं को रद्द करने के पक्ष में अपनी राय दे रहे हैं। लेकिन,अगर परीक्षाओं के आयोजन में देरी होती है, तो CBSE स्टूडेंट्स को उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश लेने में बाधा आ सकती है।

परीक्षा में देरी के चलते पीछे छूट सकते हैं स्टूडेंट्स

देश के करीब 19 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं पूरी हो चुकी है। इसमें बिहार, तेलंगाना, उत्तर, प्रदेश, केरल, झारखंड, तमिलनाडु, कर्नाटक, मध्य प्रदेश आदि शामिल है। अब जिन राज्यों में परीक्षाएं पूरी हो चुकी है, वह जल्दी ही कॉलेज और विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए अपनी प्रवेश प्रक्रिया शुरू करेंगे। ऐसे में अगर 1 से 15 जुलाई के बीच होने वाली CBSE की परीक्षा के फिर स्थगित किया जाता है, तो CBSE स्टूडेंट्स पीछे छोड़ सकते हैं।

CBSE के रिजल्ट के बाद ही जारी होगी डीयू की कटऑफ लिस्ट

दरअसल, परीक्षाओं की वजह से हुई देरी के चलते कई CBSE स्टूडेंट्स को इन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के कॉलेज और विश्वविद्यालय में एडमिशन की प्रक्रिया से वंचित रहना पड़ सकता है। इतना ही नहीं कोर्ट के दिए निर्देश के बाद CBSE के परीक्षा परिणाम के जारी होने के बाद ही दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) अपनी कटऑफ लिस्ट जारी कर सकता है। ऐसे में परीक्षा में देरी और फिर उसके बाद रिजल्ट में हुई देरी की वजह से विश्वविद्यालय की प्रवेश प्रक्रिया भी प्रभावित हो सकती हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
CBSE 12th 2020 Board Remaining Exams Update | CBSE students can be left behind due to delays in examinations, the cutoff list of DU is also dependent on CBSE result


Note: This Post Credit goes to Danik Bhaskar
Subscribe to Result and Vacancy Alert by Email